आखों की #Gahrai में Teri खो जाना चाहता हूँ Aaj तुझे बाँहों में लेकर So जाना चाहता हूँ 
तोड़ कर हदे मैं Aaj सारी अपना Tujhe बना लेना चाहता 


Hum पीना चाहते Hai.. उनकी निगाहों से, 
Hum जीना चाहते Hai.. 


उनकी पनाहों में, Hum चलना चाहते Hai.. उनकी राहों में, 
Hum मरना चाहते Hai.. उनकी बाहों में!


सकून मिलता Hai जब उनसे बात होती Hai, 
हज़ार रातों में Wo एक रात होती Hai, 


निगाह उठाकर Jab देखते Hai Wo मेरी तरफ, 
मेरे लिए Wo ही पल पूरी कायनात होती Hai।


Humने जो की थी मोहब्बत Wo Aaj भी Hai, तेरे जुल्फों के साये की चाहत Aaj भी Hai, 
रात कटती Hai Aaj भी ख्यालों में तेरे, 


दीवानों सी मेरी Wo हालत Aaj भी Hai, किसी और के तसब्बुर को उठती नहीं. 
बेईमान Aankho में थोड़ी सी शराफत Aaj भी Hai। 


Tumhare Sath खामोश भी रहूँ तो बातें पूरी हो जाती Hai.. 
Tum में, Tum से, Tum पर ही मेरी दुनिया पूरी हो जाती Hai!


मुहब्बत Ki इन्तिहां न पूछिये, इस Pyar की वजह न पूछिये, 
Har सांस मे समाये रहते हो.. कहां बसे हो Tum जगह न पूछिये। 


Wo मोहब्बत की ऐसी मिसाल रखता Hai कि 
Mujhse ज्यादा hi मेरा ख्याल रखता Hai। 


तेरे ही किस्से Teri कहानियाँ मिलेंगी मुझ में, 
न जाने Kis-Kis अदा से तू आबाद Hai मुझ में!


Khuda करे Wo मोहब्बत जो तेरे नाम से Hai, 
Hajar साल गुजरने पे भी जवान ही रहे।


टपकती Hai निगाहों से बरसती Hai अदाओं से, 
मोहब्बत Kon कहता Hai कि पहचानी नहीं जाती।